घर में हमारे कान्हा एक बार आ जाओ भजन लिरिक्स

घर में हमारे कान्हा,
एक बार आ जाओ,
दो पल के लिए ही सही,
एक बार आ जाओ,
घर में हमारे कान्हां,
एक बार आ जाओ।।

तर्ज – हनुमान की पूजा से।



पलकों पे रखेंगे,

दिल में बिठाएंगे,
स्वागत में तुम्हारे,
खुद को बिछाएंगे,
मेहमान नवाजी हमारी,
स्वीकारने आ जाओ,
दो पल के लिए ही सही,
एक बार आ जाओ,
घर में हमारे कान्हां,
एक बार आ जाओ।।



रोटी बिना घी की,

है साग सरसो का,
इसमें मिलाया है,
प्रभु प्यार बरसो का,
कुटिया को धन्य बनाने,
सरकार आ जाओ,
दो पल के लिए ही सही,
एक बार आ जाओ,
घर में हमारे कान्हां,
एक बार आ जाओ।।



शबरी के झूठे बेर,

आए थे तुम खाने,
मीरा से जो था प्रेम,
आए थे निभाने,
हम भी है प्रेम दीवाने,
एक बार आ जाओ,
दो पल के लिए ही सही,
एक बार आ जाओ,
घर में हमारे कान्हां,
एक बार आ जाओ।।



ये प्रेम निवेदन है,

स्वीकार करो कान्हा,
‘मोहित’ कहे हमपे,
उपकार करो कान्हा,
भक्तो का मान रखने,
सरकार आ जाओ,
Bhajan Diary Lyrics,
दो पल के लिए ही सही,
एक बार आ जाओ,
घर में हमारे कान्हां,
एक बार आ जाओ।।



घर में हमारे कान्हा,

एक बार आ जाओ,
दो पल के लिए ही सही,
एक बार आ जाओ,
घर में हमारे कान्हां,
एक बार आ जाओ।।

Singer – Manish Bhatt


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें