सभी देवो से सुंदर है मेरे हनुमान जी का दिल भजन लिरिक्स

सभी देवो से सुंदर है,
मेरे हनुमान जी का दिल,
सिया रघुवर का मंदिर है,
मेरे हनुमान जी का दिल,
सभी देवो से सुंदर हैं,
मेरे हनुमान जी का दिल।।

तर्ज – जहाँ बनती है तकदीरे।



सिया के पास लंका में,

समुन्दर लांघ कर पहुंचा,
ये उड़ने में सिकंदर है,
मेरे हनुमान जी का दिल,
सभी देवो से सुंदर हैं,
मेरे हनुमान जी का दिल।।



पिला संजीवनी बूटी,

बचाए प्राण लक्ष्मण के,
ये नेकी का समुन्दर है,
मेरे हनुमान जी का दिल,
सभी देवो से सुंदर हैं,
मेरे हनुमान जी का दिल।।



पूरी पातल में जा के,

असुर अहिरावण हर डाला,
ये शक्ति का धुरंदर है,
मेरे हनुमान जी का दिल,
सभी देवो से सुंदर हैं,
मेरे हनुमान जी का दिल।।



‘अनाड़ी’ सच कहे ‘सागर’,

ना मानो आप की मर्जी,
ये कलियों से भी सुंदर है,
मेरे हनुमान जी का दिल,
सभी देवो से सुंदर हैं,
मेरे हनुमान जी का दिल।।



सभी देवो से सुंदर है,

मेरे हनुमान जी का दिल,
सिया रघुवर का मंदिर है,
मेरे हनुमान जी का दिल,
सभी देवो से सुंदर हैं,
मेरे हनुमान जी का दिल।।

गायक / प्रेषक – सागर सांवरिया।
9211947046


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें