रूणझुन बाजे घूंगरीया मारे घर आया बाबा भजन लिरिक्स

रूणझुन बाजे घूंगरीया,
ओ मारे घर आया बाबा,
मारे घर आया बाबा,
मारे घर आया,
रूनझुन बाजे घूंगरीया ओ हो।।



भादरवा री दूज चांदनी,

आ गया आ गया,
ओ भादरवा री दूज चांदनी,
आ गया आ गया,
कुंकुम पगल्या मांड भगत,
मन भा गया भा गया,
भाग जाग्या अजमल रा,
नाथ पधार्या द्वरिका,
नाथ पधार्या मरूधर आप पधार्या,
रूनझुन बाजे घूंगरीया ओ हो।।



मैणादे माता री गोद्या,

खेल रयो खेल रयो,
ओ मैणादे माता री गोद्या,
खेल रयो खेल रयो,
द्वापरयुग री यशोदा जी,
हेत भयो हेत भयो,
दूध पिये है सावरियो,
ममता है पाई माँ की,
ममता है पाई माँ की ममता है पाई,
रूनझुन बाजे घूंगरीया ओ हो।।



हेत रे पालनीये झूला,

झूल रयो झूल रयो,
ओ हेत रे पालनीये झूला,
झूल रयो झूल रयो,
पगा पेडनीया बाजे छननन,
घूम रयो घूम रयो,
आंगनीया मे दौड रयो,
सागे है मोहन प्यारा,
लागे है रूप रूपाला मोहन प्यारा,
रूनझुन बाजे घूंगरीया ओ हो।।



लीला धारी लीला थारी,

है भगत मन भा रही,
ओ लीला धारी लीला थारी,
है भगता मन भा रही,
मरूधर धोरां धरती गोकुल,
लाग रही लाग रही,
माली कंठा आप बसो,
गावु गुण बाबा थारा,
गावु गुण बाबा संकट मेटो थे मारा,
रूनझुन बाजे घूंगरीया ओ हो।।



रूणझुन बाजे घूंगरीया,

ओ मारे घर आया बाबा,
मारे घर आया बाबा,
मारे घर आया,
रूनझुन बाजे घूंगरीया ओ हो।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें