रंग रंग रा फूल खिले रे थारो अजब बाग बन जाई रे

रंग रंग रा फूल खिले रे,
थारो अजब बाग बन जाई रे,
थारो लाल बाग बन जाई रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे।।



छत्र चार चौरासी री क्यारी,

ज्यारी महिमा न्यारी न्यारी,
छत्र चार चौरासी री क्यारी,
ज्यारी महिमा न्यारी न्यारी,
पेडो से पेड अडे रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे,
पेडो से पेड अडे रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे।।



कुओ एक बाग रे माई,

सूरा तिरप लगाई भाई,
कुओ एक बाग रे माई,
सूरा तिरप लगाई भाई,
कुआ से बाग पिये रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे,
कुआ से बाग पिये रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे।।



मालन एक बाग रे माई,

भर झोलो फुलडा रो लायी,
मालन एक बाग रे माई,
भर झोलो फुलडा रो लायी,
मुखडा आगे लाई रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे,
मुखडा आगे लाई रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे।।



बैठ मालन माला पोवे,

दिल चावे जो लेजावे,
बैठ मालन माला पोवे,
दिल चावे जो लेजावे,
शिवजी रे शिश चढे रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे,
शिवजी रे शिश चढे रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे।।



रामानंद गुरू माला दिनी,

दास कबीर सा हेतसु लिनी,
रामानंद गुरू माला दिनी,
दास कबीर सा हेतसु लिनी,
घट माई माला फिरे रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे,
घट माई माला फिरे रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे।।



रंग रंग रा फूल खिले रे,

थारो अजब बाग बन जाई रे,
थारो लाल बाग बन जाई रे,
रंग रंग रा फूल खिलें रे।।

गायक – सरिता जी खारवाल।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

जग में मिठो बोल भाईडा सबसे मिठो बोल रे लिरिक्स

जग में मिठो बोल भाईडा सबसे मिठो बोल रे लिरिक्स

जग में मिठो बोल भाईडा, सबसे मिठो बोल रे, धरती पर थोङो, जीवनो पंछिङा रे।। देखे – हंस हंस मिठो जग में। धोखा धङी संसार भोलीया, कोई नही आसी लार…

घायल कर गया ओ गुरूजी म्हानें घायल कर गया ओ

घायल कर गया ओ गुरूजी म्हानें घायल कर गया ओ

घायल कर गया ओ गुरूजी म्हानें, दोहा – सतगुरु मेरी आत्मा, मै संतो री देह, रोम रोम में रमरया, गुरू ज्यु बादल बीच मेह। घायल कर गया ओ गुरूजी, म्हाने…

समय रे साथे होया बापजी बड़ा तो परचा हाथो दिना अपरम्पार

समय रे साथे होया बापजी बड़ा तो परचा हाथो दिना अपरम्पार

समय रे साथे होया बापजी, बड़ा तो परचा हाथो दिना, अपरम्पार हो जी हा, हे गढ रे उमरकोठ मायने, दलजी घर हे कन्या तो है, एक नेतल नाम हो जी…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

1 thought on “रंग रंग रा फूल खिले रे थारो अजब बाग बन जाई रे”

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे