भलो वेला भगवत ने भजीया राखेनी भरोसो मेरा भाई

भलो वेला भगवत ने भजीया राखेनी भरोसो मेरा भाई

भलो वेला भगवत ने भजीया,
भलो वेला मालिक ने सुमरीया,
सोय भजो नर नारी राम रो,
राखेनी भरोसो मेरा भाई।।



श्रीयादे सेवा मे बैठी,

फिरती फिरे मंजारी ए हा,
ए श्रीयादे सेवा मे रे बैठी,
फिरती फिरे मंजारी ए हा,
ए केदो बचीया परा ऊबारो,
केदो बचीया परा ऊबारो,
नही काया होमनो मारी,
राम रो राखोनी भरोसो मेरा भाई ए हा,
अरे भलों वेला भगवत ने भजीया,
सोय भजो नर नारी ए हा।।



ए भक्त प्रहलाद रटे राम ने,

ए दाता तम्बतीहारी ए हा,
ए भक्त प्रहलाद रटे राम ने,
दाता तम्बतीहारी ए हा,
तम्ब फाड हिरण्यकश्यप मारियो,
तम्ब फाड हिरण्यकश्यप मारियो,
नख सु ओदर फाडी राम रो,
रखेनी भरोसो मेरा भाई ए हा,
अरे भलों वेला भगवत ने भजीया,
सोय भजो नर नारी ए हा।।



अरे चढीया राम लुटन गढ लंका,

ए पल मे लंका झारी ए हा,
ए चढीया राम लुटन गढ लंका,
पल मे लंका झारी ए हा,
रावण मार विभिषण थाप्यो,
रावण मार विभिषण थाप्यो,
प्रीत आगली पाली राम रो,
थोडो राखोनी भरोसो मेरा भाई ए हा,
अरे भलों वेला भगवत ने भजीया,
सोय भजो नर नारी ए हा।।



ग्रह ओर गज लडे जल भीतर,

लडत लडत गज हारी ए हा,
अरे ग्रह ओर गज लडे जल भीतर,
लडत लडत गज हारी ए हा,
तिलभर सुंड रही जल बारे,
रतीये ने सुंड रही जल बारे,
पचे रामो राम पुकारी राम रो,
थोडो राखोनी भरोसो मेरा भाई ए हा,
अरे भलों वेला भगवत ने भजीया,
सोय भजो नर नारी ए हा।।



अरे इतरो सुन विशवास चालीयो,

अमे जेली सेवना तुम्हारी ए हा,
अरे गुरू शरणे माली लिखमोजी बोले,
गुरू शरणे माली लिखमोजी बोले,
पचे भवसे पार उतारी राम रो,
थोडो राखोनी भरोसो मेरा भाई ए हा,
अरे भलो वेला भगवत ने भजीया,
अरे भलों वेला भगवत ने भजीया,
सोय भजो नर नारी ए हा।।



भलो वेला भगवत ने भजीया,

भलो वेला मालिक ने सुमरीया,
सोय भजो नर नारी राम रो,
राखेनी भरोसो मेरा भाई।।

गायक – श्याम पालीवाल जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें