राधे राधे बोल श्याम आएँगे आएँगे श्याम आएँगे भजन लिरिक्स

राधे राधे बोल श्याम आएँगे आएँगे श्याम आएँगे भजन लिरिक्स

राधे राधे बोल श्याम आएँगे,
आएँगे श्याम आएँगे,
वृन्दावन कहाँ दूर है,
बरसाना कहाँ दूर है,
सब तेरी नजर का कसूर है,
राधें राधें बोल श्याम आएँगे,
आएँगे श्याम आएँगे।।

तर्ज – धीरे धीरे बोल कोई।



निकलेगा तेरी भक्ति का परिणाम,

तेरे घर भी आएँगे घनश्याम,
बस याद कर, फरियाद कर,
ना यूँ जीवन बर्बाद कर,
बीतें दिन लौट ना आएँगे,
राधें राधें बोल श्याम आएँगे,
आएँगे श्याम आएँगे।।



ना देखे कोई धर्म करम ना जात,

जाने बस भक्तों के दिल की बात,
वो सब जान ले, पहचान ले,
वो सब जान ले, पहचान ले,
इक बार वो अपना मान ले,
फिर आकर गले लगाएँगे,
राधें राधें बोल श्याम आएँगे,
आएँगे श्याम आएँगे।।



लाखों में किसी एक को चुनते है,

अन्दर की आवाज को सुनते है,
सब जान ले, पहचान ले,
इक बार वो अपना मान ले,
फिर आकर गले लगाएँगे,
राधें राधें बोल श्याम आएँगे,
आएँगे श्याम आएँगे।।



प्रेम के आंसू जिनके बहते है,

उनके तो हरी अंग संग रहते है,
मैं भी प्यासी हूँ, हरिदासी हूँ,
मैं भी प्यासी हूँ, हरिदासी हूँ,
राधा जु की खासम ख़ास हूँ,
सुनकर प्रभु देर ना लाएंगे,
राधें राधें बोल श्याम आएँगे,
आएँगे श्याम आएँगे।।



राधे राधे बोल श्याम आएँगे,

आएँगे श्याम आएँगे,
वृन्दावन कहाँ दूर है,
बरसाना कहाँ दूर है,
सब तेरी नजर का कसूर है,
राधें राधें बोल श्याम आएँगे,
आएँगे श्याम आएँगे।।

स्वर – साध्वी पूर्णिमा दीदी जी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें