राधे ब्रज जन मन सुखकारी भजन लिरिक्स

राधे ब्रज जन मन सुखकारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम।bd।

देखे – करुणामयी कृपामयी मेरी।



मोर मुकुट मकराकृत कुण्डल,

गल वैजन्ती माला,
चरणन नूपुर रसाला,
राधे श्याम श्यामा श्याम,
राधे व्रज जन मन सुखकारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम।bd।



सुन्दर वदन कमलदल लोचन,

बांकी चितवन हारी,
मोहन वंशी विहारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम,
राधे व्रज जन मन सुखकारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम।bd।



वृन्दावन में धेनु चरावे,

गोपीजन मन हारी,
श्री गोवेर्धन धारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम,
राधे व्रज जन मन सुखकारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम।bd।



राधा कृष्ण मिली अब दोऊ,

गौर रूप अवतारी,
कीर्तन धरम प्रचारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम,
राधे व्रज जन मन सुखकारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम।bd।



तुम बिन मेरा और ना कोई,

नाम रूप अवतारी,
चरणन में बलिहारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम,
राधे व्रज जन मन सुखकारी,
राधे श्याम श्यामा श्याम।bd।



राधे ब्रज जन मन सुखकारी,

राधे श्याम श्यामा श्याम।bd।

Singer – Devi Neha Saraswat


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें