परमात्मा ना पाया पाया जन्म तो क्या हुआ लिरिक्स

परमात्मा ना पाया,
पाया जन्म तो क्या हुआ,
परमात्मा न पाया,
मेरे राम को ना पाया,
परमात्मा न पाया,
मेरे श्याम को ना पाया,
परमात्मा न पाया,
पाया जन्म तो क्या हुआ।।



कपड़े रंगा के बंदे,

तू जग में घूमता है,
जो मन को रंग ना पाया,
कपड़ा रंगा तो क्या हुआ,
परमात्मा न पाया,
पाया जन्म तो क्या हुआ।।



गंगा में जाकर बंदे,

तू तन की मैल धोता,
जो मन को धो ना पाया,
गंगा गया तो क्या हुआ,
परमात्मा न पाया,
पाया जन्म तो क्या हुआ।।



सत्संग में जाकर बंदे,

ज्ञानी तू कहलाता है,
जो टूटे दिल ना जोड़े,
ज्ञानी हुआ तो क्या हुआ,
परमात्मा न पाया,
पाया जन्म तो क्या हुआ।।



परमात्मा ना पाया,

पाया जन्म तो क्या हुआ,
परमात्मा न पाया,
मेरे राम को ना पाया,
परमात्मा न पाया,
मेरे श्याम को ना पाया,
परमात्मा न पाया,
पाया जन्म तो क्या हुआ।।

गायक – विद्याकान्त झा।
9931244994


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें