पंचमुखी रूप दिखाइए हो ज्योत पे भजन लिरिक्स

पंचमुखी रूप दिखाइए हो ज्योत पे,

संकट काटण आइये हो ज्योत पे,
झुमके बाबा छाईए हो ज्योत पे।।



सजा तेरा दरबार बालाजी,

भूत पे गेर दे मार बालाजी,
पंचमुखी रूप दिखाइए हो ज्योत पे,
झुमके बाबा छाईए हो ज्योत पे।।



धर दिया तेरा लाल लंगोटा,

हो संकट पे बजन दे सोट्टा,
भूता का मुंह खुलवाईये हो ज्योत पे,
झुमके बाबा छाईए हो ज्योत पे।।



बांध के इनके साथ बेल में,

प्रेतराज के गेर जेल में,
भैरव नाथ ने आइये हो ज्योत पे,
झुमके बाबा छाईए हो ज्योत पे।।



शहर मारपुर भगत तेरा स,

सतबीर भगत तेरी शरण पड़ा स,
सुमित का भाग जगाइये हो ज्योत पे,
झुमके बाबा छाईए हो ज्योत पे।।



संकट काटण आइये हो ज्योत पे,

झुमके बाबा छाईए हो ज्योत पे।।

भजन गायक – मुकेश शर्मा।
प्रेषक – शिवांगिनी ठाकुर।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

सोटा घुमे दुनिया भर में हरयाणवी भजन लिरिक्स

सोटा घुमे दुनिया भर में हरयाणवी भजन लिरिक्स

सोटा घुमे दुनिया भर में, बैठा मेंहदीपुर मंदिर में, अपणा झंण्डा गाड क, भुतां ने पिटः बालाजी, घर तं काढ क।। दुखिया का एक साहरा, बाबा का मंदिर प्यारा, निचे…

हो तेरा फोटु बालाजी मन्नै घणा प्यारा लागै स

हो तेरा फोटु बालाजी मन्नै घणा प्यारा लागै स

हो तेरा फोटु बालाजी, मन्नै घणा प्यारा लागै स।। तेरे फोटु की बात निराली, दिन दुखी की विपदा टाली, हो फोटु प्यारा लागै स, मन्नै घणा प्यारा लागै स, हों…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे