तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए हरियाणवी भजन

तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए हरियाणवी भजन

तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए,
हनुमान हो लिए हनुमान हो लिए,
तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए।।



तेरे सिर प मुकुट विराजै,

कानो में कुण्डल साजै,
खड़ताल भवन में बाजै,
दे क दर्शन मोह लिए,
तेरी शान पे कुर्बान हनुमान हो लिए,
हनुमान हो लिए हनुमान हो लिए,
तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए।।



बाबा की फिरगी माया,

इसी करदी छतर छाया,
हो मेरी आन्नद होगी काया,
दाग जिगर के धो लिए,
तेरी शान पे कुर्बान हनुमान हो लिए,
हनुमान हो लिए हनुमान हो लिए,
तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए।।



तेरे गल मोतियन की माला,

तु देव बड़ा मतवाला,
तेरी जय हो बजरंग बाला,
आज सतसंग में डोलिए,
तेरी शान पे कुर्बान हनुमान हो लिए,
हनुमान हो लिए हनुमान हो लिए,
तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए।।



कृष्ण लाल प्रेम सा जागै,

मन की बुरी भावना भागै,
गुरु चन्द्रभान के आगे,
दुखड़े सारे रो लिए,
तेरी शान पे कुर्बान हनुमान हो लिए,
हनुमान हो लिए हनुमान हो लिए,
तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए।।



तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए,

हनुमान हो लिए हनुमान हो लिए,
तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए।।

भजन प्रेषक – राकेश कुमार जी,
खरक जाटान(रोहतक)
( 9992976579 )


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें