पगल्या में थोड़ी पायल पेरले कानुड़ो नचावे राधा नाचले

पगल्या में थोड़ी पायल पेरले,
कानुड़ो नचावे राधा नाचले,
नाचले रे राधा नाचले रे,
नाचले रे राधा नाचले रे,
पगलया में थोड़ी पायल पेरले,
कानुड़ो नचावे राधा नाचले।।



घेर गुमारो पहरे घागरो,

ठोकर सु ठुकरावे,
गुजरी ठोकर सु ठुकरावे,
हाथा माए हरी हरी चुड़िया,
नेनासु भरमावे,
पगलया में थोड़ी पायल पेरले,
कानुड़ो नचावे राधा नाचले।।



माथे पे बेवड़लो गुजरी,

चाल चले मतवाली,
गुजरी चाल चले मतवाली,
बैठ कदम की डाल कन्हैयो,
फोड़े मटकिया सारी,
पगलया में थोड़ी पायल पेरले,
कानुड़ो नचावे राधा नाचले।।



साथ में है सखिया सारी,

जल जमना में जावे,
देखलो जल जमना में जावे,
नखरालो ओ कवर कन्हैया,
लारे लारे आवे,
पगलया में थोड़ी पायल पेरले,
कानुड़ो नचावे राधा नाचले।।



वृंदावन की कुञ्ज गली में,

कान्हो रास रचावे रे,
देखो कान्हो रास रचावे,
गोपिया राधा घर सु,
दोड़ी दोड़ी आवे,
पगलया में थोड़ी पायल पेरले,
कानुड़ो नचावे राधा नाचले।।



सावली सूरत मोहनी मूरत,

मुरली मधुर बजावे,
कान्हजी मुरली मधुर बजावे,
चंद्रसखी जे बोले या तो,
थारा ही गुण गावे,
पगलया में थोड़ी पायल पेरले,
कानुड़ो नचावे राधा नाचले।।



पगल्या में थोड़ी पायल पेरले,

कानुड़ो नचावे राधा नाचले,
नाचले रे राधा नाचले रे,
नाचले रे राधा नाचले रे,
पगलया में थोड़ी पायल पेरले,
कानुड़ो नचावे राधा नाचले।।

प्रेषक – सुभाष सारस्वत काकड़ा
9024909170


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें