पागल कर डारी श्याम ने पागल कर डारी भजन लिरिक्स

पागल कर डारी,
श्याम ने पागल कर डारि,
नैनो से जादू डाल श्याम ने,
पागल कर डारी।।

तर्ज – दीवाना बना दिया हमें।



मोटे मोटे नैनन पे,

मैं हो गई बलिहारी,
बन दीवानी छम छम नाचूं,
दे दे के तारी,
मैं तो भूली घर परिवार,
श्याम ने पागल कर डारि,
नैनो से जादू डाल श्याम ने,
पागल कर डारी।।



लट घुंघराली कामर काली,

मदन मुरारी की,
मैं दिल हारी छवि निहारी,
बांके बिहारी की,
दिल ले गया नंदकुमार,
श्याम ने पागल कर डारि,
नैनो से जादू डाल श्याम ने,
पागल कर डारी।।



कोई कहे पगली कोई मस्तानी,

कोई कहे बाँवरिया,
लोक लाज तज ओढ़ी श्याम,
नाम की चादरिया,
चाहे रुठे सब संसार,
श्याम ने पागल कर डारि,
नैनो से जादू डाल श्याम ने,
पागल कर डारी।।



छवि देखत चंदा भी लजाए,

पूरनमासी का,
छोटा सा अरमान ये,
‘किशन ब्रजवासी’ का,
तन तजू आपके द्वार,
श्याम ने पागल कर डारि,
नैनो से जादू डाल श्याम ने,
पागल कर डारी।।



पागल कर डारी,

श्याम ने पागल कर डारि,
नैनो से जादू डाल श्याम ने,
पागल कर डारी।।

Singer – Gouri Agarwal


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें