ओ जी ओ मिजाजी म्हारा सांवरिया भजन लिरिक्स

ओ जी ओ मिजाजी,
म्हारा सांवरिया,
थारी बाबा ओल्यू आवे,
बेगा आओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।



थाने तो मनावा घणा चाव सु,

थे हंस हंस कंठ लगाओ,
ना तरसाओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।



ई दुनिया सु न्यारो थारो देवरो,

थे रतन सिंघासन बैठ्या,
हुकुम सुनाओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।



नैना माहि छलके थारो नेहड़ो,

थारा टाबरिया रा अटक्या,
काम बनाओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।



भूल्या थारा बालकिया ने नाही सरे,

थारी जादूगारी मुरली,
आज बजाओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।



भूल्योड़ा भटक्या ने थारो आसरो,

म्हारी नैया नाथ पुराणी,
पार लगाओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।



जागरणो ग्यारस की चांदनी रात को,

कोई बारस ने थे खीर चूरमो,
खाओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।



जिम्या पाछे थारा हाथ धुवायस्या,

कोई ल्यो दो बीड़ा मगही पान,
चबाओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।



‘शर्मा काशीराम’ थारो बालकीयो,

थारा कह्या कह्या हुकुम उठावे,
यूँ ही फरमाओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।



ओ जी ओ मिजाजी,

म्हारा सांवरिया,
थारी बाबा ओल्यू आवे,
बेगा आओ जी सांवरा,
ओ जी ओ मिज़ाजी,
म्हारा सांवरिया।।

गायक – संजू शर्मा जी।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें