म्हारा सांवरिया सरकार रम रहा खाटू में भजन लिरिक्स

म्हारा सांवरिया सरकार रम रहा खाटू में भजन लिरिक्स

म्हारा सांवरिया सरकार,
रम रहा खाटू में,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
म्हारा साँवरिया सरकार,
रम रहा खाटू में।।



हाथों में निशान यह लेके,

भगता द्वारे आवे,
श्याम नाम की मस्ती में सब,
मिलकर धूम मचावे,
थारी बोले जय जयकार,
रम रहा खाटू में,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
म्हारा साँवरिया सरकार,
रम रहा खाटू में।।



खाटू वाला सेठ सांवरा,

नजर दया की कर दे,
खाली झोली पड़ी है कब से,
जल्दी इसको भर दे,
बाबा तुम सा नहीं है दातार,
रम रहा खाटू में,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
म्हारा साँवरिया सरकार,
रम रहा खाटू में।।



दास ‘दलीप’ ठिमोली वाला,

तेरा ध्यान लगावे,
‘अलका नागी’ श्याम धणी के,
चरणा शीष नवावे,
थारे भक्ता री लग रही कतार,
रम रहा खाटू में,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
म्हारा साँवरिया सरकार,
रम रहा खाटू में।।



म्हारा सांवरिया सरकार,

रम रहा खाटू में,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
सांवरिया म्हारा सांवरिया,
म्हारा साँवरिया सरकार,
रम रहा खाटू में।।

स्वर – अलका नागी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें