प्रथम पेज दुर्गा माँ भजन मोरी मैया की चुनर उड़ी जाये पवन धीरे धीरे चलो री

मोरी मैया की चुनर उड़ी जाये पवन धीरे धीरे चलो री

मोरी मैया की चुनर उड़ी जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री,
मैया की चुनर उड़ी जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री,
धीरे चलो री पवन धीरे चलो री,
धीरे चलो री पवन धीरे चलो री,
धीरे चलो री पुरवइया,

मोरी मैया की चुनर उड़ी जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री।।



कैसे भवानी तोहे ध्वजा में चढ़ाऊँ,

कैसे भवानी तोहे ध्वजा में चढ़ाऊँ,
हो मैया ध्वजा लेहरिया खाय,
पवन धीरे धीरे चलो री,
मैया की चुनर उड़ी जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री।।



कैसे भवानी तोहे फुलवा चढ़ाऊँ,

कैसे भवानी तोहे फुलवा चढ़ाऊँ,
हो मैया फुलवा तो गिर गिर जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री,
मैया की चुनर उड़ी जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री।।



कैसे भवानी तोरी करूँ मैं आरती,

कैसे भवानी तोरी करूँ मैं आरती,
ओ मैया ज्योत ये बुझ बुझ जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री,
मैया की चुनर उड़ी जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री।।



मोरी मैया की चुनर उड़ी जाये,

पवन धीरे धीरे चलो री,
मैया की चुनर उड़ी जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री,
धीरे चलो री पवन धीरे चलो री,
धीरे चलो री पवन धीरे चलो री,
धीरे चलो री पुरवइया,

मोरी मैया की चुनर उड़ी जाये,
पवन धीरे धीरे चलो री।।

5 टिप्पणी

  1. नमस्कार मैं राहुल कुमार नालंदा जिला से हु और आपका के गीत मुझे बहुत प्यारा लगा ।
    माँ भवानी अपनी कृपा हमेशा आपके साथ रहे।
    जय माता दी।

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।