मिलता अगर ना मुझको बाबा तेरा सहारा भजन लिरिक्स

मिलता अगर ना मुझको,
बाबा तेरा सहारा,
कैसे बता मैं करता,
कैसे बता मैं करता,
दुनिया में मैं गुजारा,
मिलता अगर ना मुझकों,
बाबा तेरा सहारा।।

तर्ज – मैं हूँ शरण में तेरी।



मुसीबत जब कोई आए,

मेरा मन जब ये घबराए,
मेरे नजदीक तू आए,
मेरी बिगड़ी बना जाए,
कैसे चुकाऊंगा मैं,
कैसे चुकाऊंगा मैं,
अहसान ये तुम्हारा,
मिलता अगर ना मुझकों,
बाबा तेरा सहारा।।



भले संसार ये रूठे,

लड़ी साँसों की ये टूटे,
तुम्हारा साथ ना छूटे,
श्याम मेरी आस ना टूटे,
‘सोनू’ कहे तेरे बिन,
‘सोनू’ कहे तेरे बिन,
बाबा कौन है हमारा,
मिलता अगर ना मुझकों,
बाबा तेरा सहारा।।



मिलता अगर ना मुझको,

बाबा तेरा सहारा,
कैसे बता मैं करता,
कैसे बता मैं करता,
दुनिया में मैं गुजारा,
मिलता अगर ना मुझकों,
बाबा तेरा सहारा।।

स्वर – संजय मित्तल जी।


3 टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें