म्हारे री बगड़ में आइये मेरी मां आ क दर्श दिखाइये मेरी मां

म्हारे री बगड़ में,
आइये मेरी मां,
आइये मेरी मां,
आ क दर्श दिखाइये मेरी मां।।



चंदन चौकी बिछी री नहाण ने,

गंगा नीर, गंगा नीर, गंगा नीर,
मंगाया मेरी मां,मंगाया मेरी मां,
आ क दर्श दिखाइये मेरी मां।।



धज्जा नारियल लौंग सुपारी,

भेंट थारी, भेंट थारी, भेंट थारी,
लगाई मेरी मां, लगाई मेरी मां,
आ क दर्श दिखाइये मेरी मां।।



मंदिर मस्जिद गुरु री द्वारा,

कित तन्नै शान,कित तन्नै शान,
लकोई मेरी मां,लकोई मेरी मां,
आ क दर्श दिखाइये मेरी मां।।



मांगे राम इन भक्तां का,

बेड़ा पार, बेड़ा पार,बेड़ा पार,
लगाइये मेरी मां,लगाइये मेरी मां,
आ क दर्श दिखाइये मेरी मां।।



म्हारे री बगड़ में,

आइये मेरी मां,
आइये मेरी मां,
आ क दर्श दिखाइये मेरी मां।।

प्रेषक – राकेश कुमार।
खरक जाटान(रोहतक)
9992976579


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें