अरे बाला जी का देखों लगाया रे मेला है महान

अरे बाला जी का देखों,
लगाया रे मेला है महान।।



अरे इमें सीता माता,

संग में है उनके श्री राम,
अरे इमें जनक दुलारी,
संग में से उनके सिया राम,
अरे बाबा ने देखो,
चरना में ला रहे इनके ध्यान,
अरे बाला जी का देखो,
लगाया रे मेला है महान।।



अरे इमें भैरवबाबा,

संग में है प्रेतराज बलवान,
अरे इन सबने देखो,
बाला जी चरणों में ध्यान,
अरे बाला जी का देखो,
लगाया रे मेला है महान।।



अरे शंकर अवतारी,

माता अंजना के है लाल,
अरे ये शिव अवतारी,
माता अंजना के है लाल,
अरे इनकी गदा ने देखो,
लाल लंगोटा रहे धार,
अरे बाला जी का देखो,
लगाया रे मेला है महान।।



अरे यो ‘राकेश कौशिक’,

इतना मुढ़ और गवार,
बाबा इन्हे भजन ना बैरा,
करदो न इसका बेडा पार,
अरे बाला जी का देखो,
लगाया रे मेला है महान।।



अरे बाला जी का देखों,

लगाया रे मेला है महान।।

गायक – नरेन्द्र कौशिक।
भजन प्रेषक – राकेश कुमार जी,
खरक जाटान(रोहतक)
( 9992976579 )


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें