मेरी सुन ले श्याम प्यारे बिगड़ी को तू संवारे भजन लिरिक्स

मेरी सुन ले श्याम प्यारे,
बिगड़ी को तू संवारे,
बिगड़ी को तू संवारे।।



इक पल को तू हंसाए,

खुशियां सी गुनगुनाएं,
दूजे ही पल हुआ क्या,
इतना भी क्यों रुलाए,
बैठी हूँ तेरे द्वारे,
हँसते है लोग सारे,
हँसते है लोग सारे,
मेरी सुनलें श्याम प्यारे,
बिगड़ी को तू संवारे,
बिगड़ी को तू संवारे।।



मीरा हुई दीवानी,

दुनिया की वो ना मानी,
मेवाड़ की वो रानी,
दर दर की खाक छानी,
किस्मत में क्या हमारे,
तुझे कैसे हम पुकारे,
तुझे कैसे हम पुकारे,
मेरी सुनलें श्याम प्यारे,
बिगड़ी को तू संवारे,
बिगड़ी को तू संवारे।।



बेकार की ये बातें,

झूठे है रिश्ते नाते,
सुख में जो साथ आते,
दुःख में वो भूल जाते,
‘लहरी’ के हो सहारे,
कोई ना बिन तुम्हारे,
कोई ना बिन तुम्हारे,
मेरी सुनलें श्याम प्यारे,
बिगड़ी को तू संवारे,
बिगड़ी को तू संवारे।।



मेरी सुन ले श्याम प्यारे,

बिगड़ी को तू संवारे,
बिगड़ी को तू संवारे।।

Singer – Uma Lahari Ji


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें