मेरी काया के महां चस्का लागया तेरे नाम का

मेरी काया के महां चस्का लागया,
तेरे नाम का,
तेरे चरणां के महां अर्पण कर दिया,
टुकड़ा चाम का।।



दुनिया की दौलत मैं ना मांगु,

रखियो सिर पे हाथ,
हो बाबा रखियो सिर पे हाथ,
भक्त बणे जब राम तरियां,
रहणां मेरे साथ,
हो बाबा रहणां मेरे साथ,
गात सौंप क भक्त कहलाया,
गात सौंप क भक्त कहलाया,
श्री श्री राम का,
तेरे चरणां के महां अर्पण कर दिया,
टुकड़ा चाम का।।



सुंदर रुप अनुप तेरा मेरे,

मनमेंं बस गया,
हो बाबा मनमें बस गया,
ज्ञान का दीपक मेरे,
दिलमें चसगया हो बाबा,
दिल में चसगया,
आ क बाबा राह बताज्या,
सच्चे धाम का,
तेरे चरणां के महां अर्पण कर दिया,
टुकड़ा चाम का।।



बजरंग बाला अंजनी के लाला,

रखियो मेरी लाज,
हो बाबा रखियो मेरी लाज,
हाथ जोड़ क तुम्हें बुलाऊं,
दर्शन दीजो आज,
हो बाबा दर्शन दीजो आज,
साज बजा क आन्नद लयुंगा,
इस पयारी शयाम का,
तेरे चरणां के महां अर्पण कर दिया,
टुकड़ा चाम का।।



इछा पुरी होगी त तेरे,

दर प आऊंगा,
हो बाबा दर प आऊंगा,
जिंदगी भरतक भुलुं कोनया,
टहल बजाऊंगा,
हो बाबा टहल बजाऊंगा,
गुरु मुरारी गुण गावेगा,
समचाणे धाम का,
तेरे चरणां के महां अर्पण कर दिया,
टुकड़ा चाम का।।



मेरी काया के महां चस्का लागया,

तेरे नाम का,
तेरे चरणां के महां अर्पण कर दिया,
टुकड़ा चाम का।।

गायक – नरेंद्र कौशिक जी।
प्रेषक – राकेश कुमार खरक जाटान(रोहतक)
9992976579


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें