मेरे दिनानाथ तेरे लाखो है नाम भजन लिरिक्स

मेरे दिनानाथ तेरे लाखो है नाम भजन लिरिक्स

मेरे दिनानाथ तेरे,
लाखो है नाम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम,
भक्तो को नाम तेरा,
भजने ने से काम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम।।

तर्ज – श्याम तेरी बंसी पुकारे।



त्रेता में बनकर के राम जी पधारे,

द्वापर में बनकर श्री कृष्ण अवतारे,
कलयुग में गूंजे बाबा,
श्याम जी का नाम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम,
मेरे दिना नाथ तेरे,
लाखो है नाम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम।।



पावन अवध वासी राम जी कहाये,

कुञ्ज गली में कान्हा रास रचाये,
श्याम जी का खाटू में,
प्यारा सा धाम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम,
भक्तो को नाम तेरा,
भजने ने से काम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम।।



मर्यादा सिखला दे राम जी हमारे,

कर्म किये जा बोले राधे जी के प्यारे,
‘हर्ष’ मेरे श्याम लेते,
हारे को थाम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम,
मेरे दिना नाथ तेरे,
लाखो है नाम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम।।


मेरे दिनानाथ तेरे,
लाखो है नाम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम,
भक्तो को नाम तेरा,
भजने ने से काम,
चाहे राधे श्याम बोलो,
चाहे सिता राम।।

Singer : Mukesh Bagda


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें