सखी कान्हा करे बरजोरी होली भजन लिरिक्स

कैसे जाऊं खेलन को होरी,
सखी कान्हा करे बरजोरी,
कैसे जाऊं खेलन को होरी,
सखी कान्हा करें बरजोरी।।

ये भी देखें – कैसे जाऊं सखी मैं पनिया भरन।



मुरली बजाई ऐसी सांवरिया,

सुध बुध खोई भई बावरिया,
तब ही रंग डारयो बनवारी,
भीज गई रेशम की सारी,
वो छलिया करे चित्तचोरी,
सखी कान्हा करें बरजोरी।।



उड़त गुलाल रंगे घर आँगन,

फाग मच्यो ऐसो वृन्दावन,
नन्दलाल गिरत पनघट पर,
भर पिचकारी मारी मोरे घूँघट पर,
श्याम रंग में रंगी हर गोरी,
सखी कान्हा करें बरजोरी।।



कैसे जाऊं खेलन को होरी,

सखी कान्हा करे बरजोरी,
कैसे जाऊं खेलन को होरी,
सखी कान्हा करें बरजोरी।।

Singer – Damini Pathariya


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें