मत भूलो नाम हरि का माया से हेत लगाय के लिरिक्स

मत भूलो नाम हरि का,
माया से हेत लगाय के,
मत भूलो नाम हरी का।।



एक दिन नर तेरा जन्म हुआ था,

घर दरवाजे ढोल घुरा था,
इस दुनियां में आय के,
सुख भोग्या सेज परी का।।



गुरु चेला दोय सायक जोड़ी,

बिछड़त देखी उनकी जोड़ी,
काल बली ने गर्दन तोड़ी,
इस दुनिया में आय के,
बस चला न मर्द बली का।।



जोग जुगत म्हे करता देख्या,

श्वास कपाली में धरता देख्या,
अंत समय में मरता देख्या,
हे तजिया प्राण मुख फाड़ के,
जैसे पड़िया स्वान नगरी का।।



चार पोर घर धंधा करले,

तीन पोर सू नींद ने काढ़ ले,
एक पोर थू राम सिमरले,
भव सागर से पार उतरले,
कहे कबीर गुण गाय के,
बण जावो मौज भली का।।



मत भूलो नाम हरि का,

माया से हेत लगाय के,
मत भूलो नाम हरी का।।

प्रेषक – रामेश्वर लाल पँवार।
आकाशवाणी सिंगर।
9785126052


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

सरस्वती मैया शारदा ने सिमरू सिमरूला देव गणेश लिरिक्स

सरस्वती मैया शारदा ने सिमरू सिमरूला देव गणेश लिरिक्स

सरस्वती मैया शारदा ने सिमरू, सिमरूला देव गणेश, सरस्वती मैया थाने सिमरु, सिमरूला देव गणेश, सरस्वती मैया शारदा ने सिमरु।। कटे विराजे सरस्वती मैया, कटे विराजे गणेश, कटे विराजे म्हारा…

बापिणी मेहोजी रो धाम सगला हिलमिल चला लिरिक्स

बापिणी मेहोजी रो धाम सगला हिलमिल चला लिरिक्स

पैदल पैदल चाला, बापिणी धाम चाला, बापिणी मेहोजी रो धाम, सगला हिलमिल चला।। बापिणी धाम प्यारी है, मेहोजी री महिमा भारी है, दाता मंगलिया सिरदार, सगला हिलमिल चला।। संग में…

आज सोने रो सूरज उगियो नखत कंवर घर आय लिरिक्स

आज सोने रो सूरज उगियो नखत कंवर घर आय लिरिक्स

आज सोने रो सूरज उगियो, दोहा – बाबो निरंजन आवीया, अलख जोगीसर आप, सोलंकी या ने वचन दियों, तों जोगी निरंजन आय। आज सोने रो सूरज उगियो, ऐ सैया म्हारी,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे