मत बांधो गठरिया अपयश की भजन लिरिक्स

मत बांधो गठरिया अपयश की,
अपयश रे पराये जस की,
मत बांधो गठरिया अपयश की।।



बालपणो हस खेल गवायो,

बीती उमरिया दिन दस की,
मत बांधो गठरिया अपयश की।।



यम का दूत मुकदरा मारे,

आटी निकाले थारी नस नस की,
मत बांधो गठरिया अपयश की।।



मात पिता से मुख से न बोले,

तिरया से बाता करे घट घट की,
मत बांधो गठरिया अपयश की।।



कहत कबीरा सुनो रे संता,

या दुनिया हे मतलब की,
मत बांधो गठरिया अपयश की।।



मत बांधो गठरिया अपयश की,

अपयश रे पराये जस की,
मत बांधो गठरिया अपयश की।।

Upload By – Mahesh
6377410705


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

आजादी दिवस है आया हर घर पे तिरंगा लहराया लिरिक्स

आजादी दिवस है आया हर घर पे तिरंगा लहराया लिरिक्स

आजादी दिवस है आया, हर घर पे तिरंगा लहराया, भारत वासी हर्षाया, हर दिल में यह दिन भाया, आओ आओ सब मिल, बोलो जय जय हिन्द, मेरे देशवासियों, शहीदों को…

म्हाने घोड़लियो मंगवा मारी मां भजन लिरिक्स

म्हाने घोड़लियो मंगवा मारी मां भजन लिरिक्स

म्हाने घोड़लियो मंगवा मारी मां, महाने घोड़लियो मंगवा, घोड़े चढ़ने घुमण जासा, घोड़लियो मंगवा मारी मां।। बाल पणा में रामदेव जी, हट कीनो हट भारी, कैसे हट कीनो यह बालक,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे