माने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड मेहन्दी गेरी लाग रही

माने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड मेहन्दी गेरी लाग रही

माने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड,
मेहन्दी गेरी लाग रही,
मने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड,
मेहन्दी गेरी लाग रही।।



मोहे ये मेहन्दी ऐसी लागी,

निर्धनीया धन होय,
माने तो मेहन्दी एसी लागी,
निर्धनीया धन होय,
अरे बांजन नार पुत्र बिन तरसे,
अरे बांजन नार पुत्र बिन तरसे,
मै तो तरसु गुरूजी तोय,
मेहन्दी गेरी लाग रही,
मने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड,
मेहन्दी गेरी लाग रही।।



सतगुरु मारा दरीयाव मे रे,

मै गलीया रो नीर,
अरे सतगुरु मारा दरीयाव मे रे,
मै गलीया रो नीर,
बेहती बूंद सागर मे मिल गई,
बेहती बूंद सागर मे मिल गई,
कंचन भयो रे शरीर,
मेहन्दी गेरी लाग रही,
मने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड,
मेहन्दी गेरी लाग रही।।



जहाज़ पडी दरीयाव में जी,

अदबीच गोता खाय,
जहाज़ पडी दरीयाव मे जी,
अदबीच गोता खाय,
सतगुरु मारा बनीया रे केवटीया,
अरे सतगुरु मारा बनीया रे केवटीया,
बेड़ा कर दिना पार,
मेहन्दी गेरी लाग रही,
मने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड,
मेहन्दी गेरी लाग रही।।



गुरु गेरा गुरु भाव रा जी,

गुरु देवन का देव,
गुरु गेरा गुरु भाव रा जी,
गुरु देवन का प्रेम,
रामानंद रा भणे रे कबीरा,
रामानंद रा भणे रे कबीरा,
देवन आयो जी ज्ञान,
मेहन्दी गेरी लाग रही,
मने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड,
मेहन्दी गेरी लाग रही।।



माने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड,

मेहन्दी गेरी लाग रही,
मने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड,
मेहन्दी गेरी लाग रही।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें