मईया दर्शन कैसे पाऊँ तेरी बड़ी ही दूर नगरीया भजन लिरिक्स

मईया दर्शन कैसे पाऊँ,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया,
मैंने देखि ना है डगरिया,
मैया दर्शन कैसे पाऊं,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया।।



मैया सिंह पे चढ़के आओ,

दासी को दरश दिखलाओ,
दासी को दरश दिखलाओ,
मैया सिंह पे चढ़के आओ,
मैं तो पल पल आस लगाऊं,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया,
मैया दर्शन कैसे पाऊं,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया।।



तेरे नवराते माँ आए,

भक्तो ने भवन सजाएं,
भक्तो ने भवन सजाएं,
तेरे नवराते माँ आए,
तेरी जगमग ज्योत जगाऊँ,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया,
मैया दर्शन कैसे पाऊं,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया।।



हे जगदम्बे वरदानी,

मुझे दो वरदान भवानी,
मुझे दो वरदान भवानी,
हे जगदम्बे वरदानी,
गोद में मैं भी लाल खिलाऊँ,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया,
मैया दर्शन कैसे पाऊं,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया।।



मईया दर्शन कैसे पाऊँ,

तेरी बड़ी ही दूर नगरीया,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया,
मैंने देखि ना है डगरिया,
मैया दर्शन कैसे पाऊं,
तेरी बड़ी ही दूर नगरीया।।

Singer – Anjali Jain


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें