मैं तेरी बेटी तू मेरी के माई ना हरियाणवी भजन लिरिक्स

मैं तेरी बेटी तू मेरी के माई ना,
किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना।।



ये छोटे छोटे हाथ तेरे,

दर जोड़े सं,
दुनिया के भाग जगाए,
मेरे क्युं फोड़े सं,
थाली सज्जा क कदे,
धरी मिठाई ना,
किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना,
मैं तेरी बेटी तुँ मेरी के माई ना,
किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना।।



कोण जावेगा मेरः सासरः,

दाती री,
बखत पड़े प चाहिएगा,
मन्नै भाती री,
भाई कैसी चीज जगत में,
पाई ना,
किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना,
मैं तेरी बेटी तुँ मेरी के माई ना,
किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना।।



आवः भईया दुज,

मैं रो रो मरज्यांगी,
अर्ज सुणो बदनाम,
नहीं तो करज्यांगी,
तेरे सिवा दुनिया में,
मेरी दवाई ना,
किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना,
मैं तेरी बेटी तुँ मेरी के माई ना,
किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना।।



राजु शर्मा तेरा चलः,

कोए जोर नहीं,
माँ चरणां बिन,
तेरा कोए ठोर नहीं,
कप्तान शर्मा तेरे बिना,
कविताई ना,
किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना,
मैं तेरी बेटी तुँ मेरी के माई ना,
किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना।।



मैं तेरी बेटी तू मेरी के माई ना,

किसके राखी बांधु,
मेरः कोए भाई ना।।

गायक – नरेन्द्र कौशिक।
भजन प्रेषक – राकेश कुमार जी,
खरक जाटान(रोहतक)
( 9992976579 )


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें