प्रथम पेज राजस्थानी भजन मैं सेवक हूँ श्रीराम का हनुमान नाम है मेरा भजन लिरिक्स

मैं सेवक हूँ श्रीराम का हनुमान नाम है मेरा भजन लिरिक्स

मैं सेवक हूँ श्रीराम का,
हनुमान नाम है मेरा।।



मेघनाथ ने शक्ति मारी,

मुर्छित हुआ लखन बलकारी,
व्याकुल हो गयी सेना हमारी,
होश उड़िया बलवान का,
दिल कांप रहा है मेरा।।



मैं बुटी लेने आया,

मिली नही जद पहाड़ उठाया,
सुर समझ कर तीर चलाया,
दर्शन होते भान के,
हो जासी अभी अंधेरा।।



टूट्या र चलियो ना जावे,

इस पर्वत को कोंन पहुँचावे,
दिल में यही फिक्र सतावे,
काम बणिया नुकशान का,
हो जासी अभी सवेरा।।



यही लिखा था लेख हमारा,

इतना ही लक्ष्मण का नाता,
हरनारायण हरि गुण गाता,
भजन करो भगवान का,
भगवान आसरा तेरा।।



मैं सेवक हूँ श्रीराम का,

हनुमान नाम है मेरा।।

गायक / प्रेषक – श्यामनिवास जी।
919024989481


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।