महापुरुषों रा शहरिया में आवे सुख री लहरियां

महापुरुषों रा शहरिया में आवे सुख री लहरियां

महापुरुषों रा शहरिया में,
आवे सुख री लहरियां,
आवे सुख री लहरिया,
आवे ठंडी लहरिया,
म्हारा सतगुरु जी रा शहर माहीने,
आवे ठंडी लहरिया।।



दोपरी और सांझ भोर,

राम ध्वनि चारु ओर,
संत दिखे थोर थोर,
कंठी माला पहरिया,
महापुरुषा रा शहरिया में,
आवे सुख री लहरियां,
आवे सुख री लहरिया,
आवे ठंडी लहरिया।।



रिद्धि सिद्धि पास माही,

लक्ष्मी जी रो अंत नाही,
ब्रह्मा विष्णु महेश काही,
सबा री है महरिया,
महापुरुषा रा शहरिया में,
आवे सुख री लहरियां,
आवे सुख री लहरिया,
आवे ठंडी लहरिया।।



म्हारा सतगुरु जाणे एडो डाव,

नाम रूपी चाढ़े नाव,
ऊंचो नीचो गयो जो पाव,
तारे खेरम खेरिया,
महापुरुषा रा शहरिया में,
आवे सुख री लहरियां,
आवे सुख री लहरिया,
आवे ठंडी लहरिया।।



हीरो रा भंडार खोले,

अपनो से गुरु ना ही ओले,
कर जोड़या दानो जी बोले,
आनंद व्यापे ठहरिया,
महापुरुषा रा शहरिया में,
आवे सुख री लहरियां,
आवे सुख री लहरिया,
आवे ठंडी लहरिया।।



म्हारा सतगुरु जी रा देश माहीने,

आवे ठंडी लहरिया,
म्हारा धिनगुरु जी रा शहरिया में,
आवे सुख री लहरिया,
महापुरुषों रा शहरिया में,
आवे सुख री लहरियां,
आवे सुख री लहरिया,
आवे ठंडी लहरिया,
म्हारा सतगुरु जी रा शहर माहीने,
आवे ठंडी लहरिया।।

Singer – चैनपुरी गोस्वामी
बालरवा जोधपुर 9784985830


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें