प्रथम पेज दुर्गा माँ भजन माँ ऊँचे पर्वत वाली करती शेरो की सवारी भजन लिरिक्स

माँ ऊँचे पर्वत वाली करती शेरो की सवारी भजन लिरिक्स

माँ ऊँचे पर्वत वाली,
करती शेरो की सवारी,
अम्बे माँ,
घर में पधारो मेरी माँ,
अम्बे माँ,
घर में पधारो मेरी माँ।।

तर्ज – मेरा भोला है भंडारी।



तेरे नाम की ज्योत जली है,

दर्शन को टोली खड़ी है,
अम्बे माँ,
आरती उतारूं मेरी माँ,
अम्बे माँ,
आरती उतारूं मेरी माँ।।



आँखे दर्शन की है प्यासी,

आजा माता मिटे उदासी,
अम्बे माँ,
चरण पखारूँ मेरी माँ,
अम्बे माँ,
चरण पखारूँ मेरी माँ।।



हम सब भक्ति भाव ना जाने,

पूजा पाठ नहीं कुछ जाने,
अम्बे माँ,
तेरे ही गुण गाऊं ओ माँ,
अम्बे माँ,
तेरे ही गुण गाऊं ओ माँ।।



माँ ऊँचे पर्वत वाली,

करती शेरो की सवारी,
अम्बे माँ,
घर में पधारो मेरी माँ,
अम्बे माँ,
घर में पधारो मेरी माँ।।

Singer – Amit Mutreja


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।