प्रथम पेज राजस्थानी भजन मेला में जा आई ओ दर्शन भेरूजी का कर आयी

मेला में जा आई ओ दर्शन भेरूजी का कर आयी

मेला में जा आई ओ,
दर्शन भेरूजी का कर आयी,
मेला में जाय ओ,
दर्शन भेरूजी का कर आयी,
लुगाई म्हारी मेला में जा आयी,
ओ दर्शन भेरूजी का कर आयी।।



पाली जिला रे मायने जी,

सोनाला एक धाम,
पाली जिला रे मायने जी,
सोनाला एक धाम,
भंवर गुफा मे आप बिराजो,
खेतलाजी रो धाम,
भंवर गुफा मे आप बिराजो,
खेतलाजी रो धाम,
दर्शन करवा जावे लुगाया,
दर्शन करवा जावे लुगाया,
आती पूज आयी रे,
लुगाई म्हारी मेला में जा आयी ओ,
दर्शन भेरूजी का कर आयी।।



सोनाला रा भेरूजी ने,

ध्यावे जुग संसार,
सोनाला रा भेरूजी ने,
ध्यावे जुग संसार,
दुनिया दर्शन आवे यात्री,
आवे नर ने नार,
दुनिया दर्शन आवे यात्री,
आवे नर और नार,
मै भी दर्शन करवा आयो,
मै भी दर्शन करवा आयो,
किजो भवजल पार,
लुगाई म्हारी मेला में जा आयी ओ,
दर्शन भेरूजी का कर आयी।।



भेरूजी रा चरना मायने,

भगत गावे है आज,
भेरूजी रा चरना मायने,
भगत गावे है आज,
भजन गावे नित ढोलक बजावे,
नित नित नाचवाने जाय,
भजन गावे नित ढोलक बजावे,
नित नित नाचवाने जाय,
अरे प्रेम माली चरना रो चाकर,
प्रेम माली चरना रो चाकर,
थारा करे रे बखान,
लुगाई म्हारी मेला में जा आयी ओ,
दर्शन भेरूजी का कर आयी।।



मेला में जा आई ओ,

दर्शन भेरूजी का कर आयी,
मेला में जाय ओ,
दर्शन भेरूजी का कर आयी,
लुगाई म्हारी मेला में जा आयी,
ओ दर्शन भेरूजी का कर आयी।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।