लिखता था जय श्री श्याम वो ही काम आ गया लिरिक्स

विपदा आने वाली थी,
पर श्याम आ गया,
लिखता था जय श्री श्याम,
वो ही काम आ गया।।



किये कौन से भले करम थे,

बीते जन्मों में मैंने,
श्री श्याम कृपालु उसका,
फल आये मुझको देने,
मेरी परीक्षा का जैसे,
परिणाम आ गया,
लिखता था जय श्रीं श्याम,
वो ही काम आ गया।।



मेरे सारे संकट काटे,

मेरे बिगड़े काम बनाये,
मेरी जब जब नैया डोले,
ये आकर पार लगाए,
मेरी श्रद्धा भक्ति का,
ईनाम आ गया,
लिखता था जय श्रीं श्याम,
वो ही काम आ गया।।



जब जब मैंने सोचा है,

उसके दर पर जाऊँगा,
इस मन की व्यथा सुनाकर,
उसकी कृपा पाऊंगा,
उससे पहले श्याम का,
पैगाम आ गया,
लिखता था जय श्रीं श्याम,
वो ही काम आ गया।।



विपदा आने वाली थी,

पर श्याम आ गया,
लिखता था जय श्री श्याम,
वो ही काम आ गया।।

Singer – Amit Kalra Meetu


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

कृष्ण नाम की है बगिया निराली भजन लिरिक्स

कृष्ण नाम की है बगिया निराली भजन लिरिक्स

कृष्ण नाम की है बगिया निराली, राधा राधा रटे हर डाली डाली, राधा राधा रटे हर डाली डाली।। कली कली पर भंवरा गूंजे, राधा नाम सुनाए, झूम झूम के लता…

राधे गोविंद गोपाल रटते रहो श्याम लेंगे खबरिया कभी ना कभी

राधे गोविंद गोपाल रटते रहो श्याम लेंगे खबरिया कभी ना कभी

राधे गोविंद गोपाल रटते रहो, श्याम लेंगे खबरिया कभी ना कभी, प्रेम से नेम से रोज भजते रहो, उनकी होगी नजरिया कभी ना कभी।। भाव के भूखे है बस मेरे…

तेरे एहसानों को कैसे मैं भुलाऊँगा भजन लिरिक्स

तेरे एहसानों को कैसे मैं भुलाऊँगा भजन लिरिक्स

तेरे एहसानों को, कैसे मैं भुलाऊँगा, जब तक साँस चले, महिमा तेरी गाऊँगा।। तर्ज – आदमी मुसाफिर है। ना जाने कितने, उपकार तेरे, संकट से लड़ता, हर पल तू मेरे,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे