लाल लंगोटो बाला हाथ में घोटो बालाजी भजन लिरिक्स

लाल लंगोटो बाला हाथ में घोटो,

श्लोक – लाल देह लाली लसे,
अरु धर लाल लंगुर,
वज्र देह दानव दलन,
जय जय जय कपि सूत।
हनुमंत तेरी धाक से,
धूजे लंका कोट,
माँ अंजनी रा लाडला,
थारे पैरण लाल लंगोट।



लाल लंगोटो बाला हाथ में घोटो,

थाने शुमिरा पवन कुमार बजरंग बालाजी,
बालाजी बालाजी बालाजी ओ म्हारा बालाजी,
थारी जय हो पवन कुमार बजरंग बालाजी।।



माँ अंजनी रा लाडला,

थेतो रामजी रा कहिजो दास बजरंग बालाजी,
बालाजी बालाजी बालाजी ओ म्हारा बालाजी,
थारी जय हो पवन कुमार बजरंग बालाजी।।



लंका जारी सिया सुध लाये,

थेतो रामजी रा सारिया काज बजरंग बालाजी,
बालाजी बालाजी बालाजी ओ म्हारा बालाजी,
थारी जय हो पवन कुमार बजरंग बालाजी।।



तेल सिन्दूर थारे अंग चढ़े,

बाला मंगल ने शनिवार बजरंग बालाजी,
बालाजी बालाजी बालाजी ओ म्हारा बालाजी,
थारी जय हो पवन कुमार बजरंग बालाजी।।



सालासर में थारो धाम कहिजो,

थारी धजा फरुके आसमान बजरंग बालाजी,
बालाजी बालाजी बालाजी ओ म्हारा बालाजी,
थारी जय हो पवन कुमार बजरंग बालाजी।।



सेन सिंह शरणा रो चाकर,

म्हाने दो भक्ति वरदान बजरंग बालाजी,
बालाजी बालाजी बालाजी ओ म्हारा बालाजी,
थारी जय हो पवन कुमार बजरंग बालाजी।।



लाल लंगोटो बाला हाथ में घोटो,
थाने शुमिरा पवन कुमार बजरंग बालाजी,
बालाजी बालाजी बालाजी ओ म्हारा बालाजी,
थारी जय हो पवन कुमार बजरंग बालाजी।।



Singer : Prakash Mali

“श्रवण सिंह राजपुरोहित द्वारा प्रेषित”
सम्पर्क : +91 9096558244


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें