कृष्ण मुरारी जी आंख बसे मन भावे भजन लिरिक्स

कृष्ण मुरारी जी,
आंख बसे मन भावे,
बांके बिहारी जी,
आंख बसे मन भावे।।



पिली कम्बलिया मोर मुकुट,

घनश्याम गगन के रंग सजाये,
साँझ ना दिखे श्याम सांवरा,
दिन भर नंद की धेनु चरावे,
तन मन वारी जी,
आंख बसे मन भावे,
मैं तो हारी जी,
आंख बसे मन भावे।।



नींद उणी दे जग के कारज,

कद ते सोचूं श्याम की सोचूं,
रसिया जोगी कान्हा बजावे,
मुरली बोल हिये तक पहुंचे,
रास बिहारी जी,
आंख बसे मन भावे,
शोभा न्यारी जी,
आंख बसे मन भावे।।



तन मन प्राण हवाले तेरे,

तुझमे रमावे पल छीन
माधव मदन गोवर्धन धारी,
दरस में तेरे भीगे निशदिन,
कृष्ण कुमारी जी,
आंख बसे मन भावे,
सुध बुध हारी जी
आंख बसे मन भावे।।



कृष्ण मुरारी जी,

आंख बसे मन भावे,
बांके बिहारी जी,
आंख बसे मन भावे।।

स्वर – जगजीत सिंह जी।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

हरि सुन्दर नंद मुकुंद हरि नारायण हरि ओम लिरिक्स

हरि सुन्दर नंद मुकुंद हरि नारायण हरि ओम लिरिक्स

हरि सुन्दर नंद मुकुंद, हरि नारायण हरि ओम, हरि केशव हरि गोविंद, हरि नारायण हरि ओम, हरि सुंदर नंद मुकुंद, हरि नारायण हरि ओम।। hari sundar nand mukunda lyrics बनमाली…

तेरी मुरली में वो जादू है बिन डोर खिंचा आता हूँ भजन लिरिक्स

तेरी मुरली में वो जादू है बिन डोर खिंचा आता हूँ भजन लिरिक्स

तेरी मुरली में वो जादू है, बिन डोर खिंचा आता हूँ, जाना होता है और कही, तेरी ओर चला आता हूँ, तेरी मूरली में वो जादू है।। तर्ज – तेरे…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे