किरपा का रखना सर पे मेरे हाथ सांवरे भजन लिरिक्स

किरपा का रखना,
सर पे मेरे हाथ सांवरे,
होती रहे यूँ ही-३,
ये मुलाकात सांवरे,
कृपा का रखना,
सर पे मेरे हाथ सांवरे।।

तर्ज – उनसे मिली नज़र।



जबसे मिला तेरा दरबार,

होती नहीं कोई दरकार,
जो चाहूँ वो मिल जाता,
ऐसा मिला मुझको दाता,
होती रहे तेरी-३,
ये करामात सांवरे,
कृपा का रखना,
सर पे मेरे हाथ सांवरे।।



याद मुझे वो दिन आते,

गम की सुबह और रातें,
गैरों की क्या बात करूँ,
मेरे मुझको छल जाते,
तेरी दया से अब-३,
ना मिले घात सांवरे,
कृपा का रखना,
सर पे मेरे हाथ सांवरे।।



परिवार ये मेरा चलता है,

कृपा से तेरी पलता है,
हर ग्यारस खाटू आकर,
प्यार जो तेरा मिलता है,
दिल की करूँ सदा-३,
तुझसे बात सांवरे,
कृपा का रखना,
सर पे मेरे हाथ सांवरे।।



शुकर करूँ तेरा हर क्षण,

बाबा रखना अपनी शरण,
दास रहे ये ‘रसिक’ तेरा,
ऐसा करना श्याम जतन,
‘गौरी’ करे भजन-३,
तेरा दिन रात सांवरे,
कृपा का रखना,
सर पे मेरे हाथ सांवरे।।



किरपा का रखना,

सर पे मेरे हाथ सांवरे,
होती रहे यूँ ही-३,
ये मुलाकात सांवरे,
कृपा का रखना,
सर पे मेरे हाथ सांवरे।।

Singer – Gouri Agarwal


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें