खाटू वाले बाबा सबके भाग्यविधाता भजन लिरिक्स

खाटू वाले बाबा सबके भाग्यविधाता,
जो भी दर तेरे शीश झुकाये,
पाते मेहरबानियाँ, तेरी मेहरबानियाँ,
तू है दाता, हे श्याम बाबा,
तुझसे चमकी जिन्दगानियाँ,
खाटु वाले बाबा सबके भाग्यविधाता,
जो भी दर तेरे शीश झुकाये,
पाते मेहरबानियाँ तेरी मेहरबानियाँ।।

तर्ज – सर को झुका लो शेरावाली को।



दुनिया से हारे, पाए तुझसे सहारे,

नैया डूबे जो मझधार,
तू लगाए किनारे,
साथ निभाए, राह दिखाए,
करे दूर परेशानियां,
खाटु वाले बाबा सबके भाग्यविधाता,
जो भी दर तेरे शीश झुकाये,
पाते मेहरबानियाँ तेरी मेहरबानियाँ।।



रोगी दुखिया जो आए,

आँखे आँसू बहाये,
भर के खुशियां जीवन में,
तेरे दर से वो जाए,
जो यहाँ आए, गुण तेरे गाये,
तेरी अमर कहानियाँ,
खाटु वाले बाबा सबके भाग्यविधाता,
जो भी दर तेरे शीश झुकाये,
पाते मेहरबानियाँ तेरी मेहरबानियाँ।।



खाटू वाले बाबा सबके भाग्यविधाता,

जो भी दर तेरे शीश झुकाये,
पाते मेहरबानियाँ तेरी मेहरबानियाँ,
तू है दाता, हे श्याम बाबा,
तुझसे चमकी जिन्दगानियाँ,
खाटु वाले बाबा सबके भाग्यविधाता,
जो भी दर तेरे शीश झुकाये,
पाते मेहरबानियाँ तेरी मेहरबानियाँ।।

Singer – Deepak Ram


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें