खम्मा भेरूजी वेगोड़ा बुलाया मोड़ा आविया रे दाता

खम्मा भेरूजी वेगोड़ा बुलाया,

दोहा – घोड़ले चढ़िने आवजो,
ओजी मारा भेरुजी महाराज,
संकल भगत मनावता,
भेरूजी वैगा आवो आज।

खम्मा भेरूजी वेगोड़ा बुलाया,
मोड़ा आविया रे दाता,
अरे आजो आजो घोड़ले रे असवार,
मारा भेरूजी,
अरे आजो मारा बावजी,
माने रे आवे रे थारी अवलुड़ी रे दाता।।



अरे ख़मा भेरूजी भक्ता रे बुलाया,

वैगा आवजो रे दाता,
ऐ थारी भक्त गणेरा जोवे बाट,
मारा भेरूजी,
आज रेे जागण में वैगा आवजो।।



अरे ख़मा भेरूजी भाणोल नगरी में,

बणियो देवरो रे दाता,
यो तो बणियों बणियों,
थारोड़ो दरबार,
मारा भेरूजी,
आज रा जागण में,
बैगा आवजो रे दाता,
अरे खमा भेरूजी वेगोड़ा बुलाया,
मोड़ा आवियारे दाता।।



ख़मा भेरूजी दिन रे पाँचम् ने,

जागण जगावियो रे दाता,
अरे थारे दिवलों जलाऊ सारी रात,
रात मारा बावजी,
आवो मारा भेरूजी,
आज रा जागण में,
बैगा आवजो रे दाता,
अरे खमा भेरूजी वेगोड़ा बुलाया,
मोड़ा आवियारे दाता।।



ख़मा भेरूजी ढो़ल रे धमीड़े,

वैगा आवजो रे दाता,
अरे आजो जा़लर री जणकार,
मारा बावजी,
आज रा जागण में,
बैगा आवजो रे दाता,
अरे खमा भेरूजी वेगोड़ा बुलाया,
मोड़ा आवियारे दाता।।



अरे खमा भेरूजी सभी भगत,

आया द्वार पे रे दाता,
अरे थारे हिम्मत गावे,
गावे हिम्मत यो पदमावत,
मारा बावजी,
आज रा जागण में,
बैगा आवजो रे दाता,
अरे खमा भेरूजी वेगोड़ा बुलाया,
मोड़ा आवियारे दाता।।



खमा भेरूजी वेगोड़ा बुलाया,

मोड़ा आविया रे दाता,
अरे आजो आजो घोड़ले रे असवार,
मारा भेरूजी,
अरे आजो मारा बावजी,
माने रे आवे रे थारी अवलुड़ी रे दाता।।

गायक एवं प्रेषक – हिम्मत पदमावत।
सवानिया, मावली (उदयपुर )
7023720627


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें