प्रथम पेज कृष्ण भजन कद खुलेगा बंद पट थारा कद मै दर्शन पावांगा भजन लिरिक्स

कद खुलेगा बंद पट थारा कद मै दर्शन पावांगा भजन लिरिक्स

कद खुलेगा बंद पट थारा,
कद मै दर्शन पावांगा,
अब तो बाबा थक मैं हारया,
थारी बाट निहारा हा।।

तर्ज – रो रो कर फरियाद करा हाँ।



मै तो आ ना सकु हूँ बाबा,

थे तो म्हारा घरे आओ,
ग्यारस को जो नियम बणायो,
आज थे आ ने निभाओ,
ज्योत जगा ने बाबा थारा,
भजना ने मै सुणावांगा,
अब तो बाबा थक मैं हारया,
थारी बाट निहारा हा।।



जग पे बाबा इतनी बडी जो,

विपदा आज ये आई है,
हर विपदा पे थे तो बाबा,
मोरछडी लहराई है,
सबका सकंट दुर करो थे,
जद जाने सुख पावांगा,
अब तो बाबा थक मैं हारया,
थारी बाट निहारा हा।।



नवयुवक ने आस हैं थापे,

थापे पुरो भरोसो है,
जद भी बंद पट थारा खुलेगा,
पेल्या नंबर मेरो है,
घणी हो गई लुका छुपी,
प्यार थारो कद पावांगा,
अब तो बाबा थक मैं हारया,
थारी बाट निहारा हा।।



कद खुलेगा बंद पट थारा,

कद मै दर्शन पावांगा,
अब तो बाबा थक मैं हारया,
थारी बाट निहारा हा।।

Singer – Yogesh Prashant
Nagda Dhar
9179011869


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।