प्रथम पेज फिल्मी तर्ज भजन जो मात पिता से जोड़े प्रीत उसे भगवन मिल जाते है लिरिक्स

जो मात पिता से जोड़े प्रीत उसे भगवन मिल जाते है लिरिक्स

जो मात पिता से जोड़े प्रीत,
उसे भगवन मिल जाते है,
होती जग में उसी की जीत,
होती जग में उसी की जीत,
उसे भगवन मिल जाते है,
जो मात पिता से जोडे प्रीत,
उसे भगवन मिल जाते है।।

तर्ज – आ लौट के आजा।



सेवा में इनकी जीवन बिता ले,

अपना ये धर्म निभाना,
मात पिता का आशीष पा ले,
दिल को ना इनके दुखाना,
ना इनके जैसा मिलेगा कोई,
वो जो तेरा भला चाहते है,
जो मात पिता से जोडे प्रीत,
उसे भगवन मिल जाते है।।



दिल में तू इनकी मूरत बसा ले,

जन्म सफल होगा तेरा,
पूण्य ये बन्दे कर्म कमा ले,
मिट जाएगा अँधेरा,
नेकी सभी का तू कर इस जगत में,
तुझे वो ये राह दिखाते है,
जो मात पिता से जोडे प्रीत,
उसे भगवन मिल जाते है।।



जो मात पिता से जोड़े प्रीत,

उसे भगवन मिल जाते है,
होती जग में उसी की जीत,
होती जग में उसी की जीत,
उसे भगवन मिल जाते है,
Bhajan Diary,
जो मात पिता से जोडे प्रीत,
उसे भगवन मिल जाते है।।

Singer – Avinash Karn


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।