जिवड़ो मारो सतगुरु भेंट दियो सिद्धनाथ जी भजन

जिवड़ो मारो सतगुरु भेंट दियो,
जनम जनम को भुजयौडो दीपक,
अड़ते ही जोत दियो।।



ड़ांकण ड़ांक दियो भरम,

माया जासू जीव भयो,
भेद भरम सु जीव बण,
दाता दास कयो,
जीवडो मारो सतगुरु भेट दियो।।



मल विषेभ आवरण माई,

सुख-दुख जन्म लियो,
सतगुरु सेन कृपा कर दिनी,
सुतो ही जाग गयो,
जीवडो मारो सतगुरु भेट दियो।।



देह नहीं है कोहम कोहम,

तव पद शोध कियों,
दया धयाम छोड़ अमी पद,
सोहम घुटक पीओ,
जीवडो मारो सतगुरु भेट दियो।।



शांत शिव अवधेत अखंडी,

अनुभव आप आयो,
सिद्धनाथ भूमा अपरोक्षा,
जीवत मुक्त भयो,
जीवडो मारो सतगुरु भेट दियो।।



जिवड़ो मारो सतगुरु भेंट दियो,

जनम जनम को भुजयौडो दीपक,
अड़ते ही जोत दियो।।

लेखक – सिद्धनाथ जी महाराज।
ग्राम बीर अजमेर।
प्रेषक – शिष्य सेवा नाथ मुहामी।
श्रीनाथ स्टूडियो मुहामी।
9950387340


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

पीरजी आप थका कीने धावा रामदेवजी सायल भजन

पीरजी आप थका कीने धावा रामदेवजी सायल भजन

पीरजी आप थका कीने धावा, दोहा – लीलो घोड़ो नवलखो, और मोतियों जड़ी रे लगाम, पिछम धरां रा बादशाह, गढ़ रुणेचे रा श्याम। धिन ढाणी धिन देवरो, धिन हैं रुणेचो…

दिल्ली घुम्यो मुंबई घुम्यो मैं घुम्यो गुजराता में

दिल्ली घुम्यो मुंबई घुम्यो मैं घुम्यो गुजराता में

दिल्ली घुम्यो मुंबई घुम्यो, मैं घुम्यो गुजराता में, बालाजी मारो सालेड़ा में बेठ्यो, मैं ढूंढ्यो देश विदेशा में।। बालाजी महाराज थारी, लीला देखी न्यारी रे, नाम थारो दुनिया में चाले,…

परनारी की प्रीत करे नंगटा चोड़े धाड़े लिरिक्स

परनारी की प्रीत करे नंगटा चोड़े धाड़े लिरिक्स

परनारी की प्रीत करे, नंगटा चोड़े धाड़े। दोहा – परनारी मीठी छुरी, तीन ठोड़ से खाय, जीवत खावे काळजो, मर्या नरक ले जाय। परनारी के कारने, मर गया रावण शिशुपाल,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे