जय हो तेरी ताप्ती माई मां के मंदिर से ज्योति लहराई

जय हो तेरी ताप्ती माई,
मां के मंदिर से ज्योति लहराई,
जय हों तेरी ताप्ती मांई।।



बादाम खारक हरे कंगन,

हाथ में श्रीफल लगे चंदन,
तुम सारे जगत की हो महामाई,
जय हों तेरी ताप्ती मांई।।



मुलताई में तेरे लगे मेले,

भक्त तेरे मां अलबेले,
सब भक्तों के लिए मां वरदाई,
जय हों तेरी ताप्ती मांई।।



हमें इस दुनिया का डर ही नही,

तेरे सिवा कुछ और नहीं,
कृपा भक्तों पर तूने मां बरसाई,
जय हों तेरी ताप्ती मांई।।



लाल चुनरिया लाल है चोला,

और माथे पर चमके बिंदिया,
सारे भक्तों की तुम हो महामाई,
जय हों तेरी ताप्ती मांई।।



प्यासे हैं नैना तेरे दीदार के,

भटक रहे हैं भूखे मां प्यार के,
आस दर्शन की मन में है लगाई,
जय हों तेरी ताप्ती मांई।।



जय हो तेरी ताप्ती माई,

मां के मंदिर से ज्योति लहराई,
जय हों तेरी ताप्ती मांई।।

गायक – पवन कुमार साहू मुलताई
9617171315


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

गवलय जात में लियो रे अवतार पिपलीया में पाया अमर गति

गवलय जात में लियो रे अवतार पिपलीया में पाया अमर गति

गवलय जात में लियो रे अवतार, पिपलीया में पाया अमर गति।। माता गऊर का पुत्र कहाया, बाबा भीमा का पुत्र कहाया, गावे सखियाँ मंगलाचार, पिपलिया में पाया अमर गति, गवलय…

ये माना की माँ की है ममता महान नहीं कुछ बिना बाप के लिरिक्स

ये माना की माँ की है ममता महान नहीं कुछ बिना बाप के लिरिक्स

ये माना की माँ की है, ममता महान, नहीं कुछ बिना बाप के। दोहा – पिता ब्रम्हा पिता विष्णु, पिता भगवान दुनिया में, पिता जैसा नहीं दूजा, दयावान दुनिया में,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे