जटाधारी बनके त्रिपुरारी बनके चले आना भजन लिरिक्स

जटाधारी बनके त्रिपुरारी बनके,
चले आना भोले जी चले आना।।

तर्ज – कभी राम बनके।



तुम औघड़ रूप में आना,

तुम औघड़ रूप में आना,
भूत साथ लेके मुंड हाथ लेके,
चले आना भोले जी चले आना।
जटाधारी बन के त्रिपुरारी बनके,
चले आना भोले जी चले आना।।



तुम भंगिया रूप में आना,

तुम भंगिया रूप में आना,
झोला हाथ लेके भंग साथ लेके,
चले आना भोले जी चले आना।
जटाधारी बन के त्रिपुरारी बनके,
चले आना भोले जी चले आना।।



तुम जोगिया रूप में आना,

तुम जोगिया रूप में आना,
डमरू हाथ लेके नंदी साथ लेके,
चले आना भोले जी चले आना।
जटाधारी बन के त्रिपुरारी बनके,
चले आना भोले जी चले आना।।



तुम मोहिनी रूप में आना,

तुम मोहिनी रूप में आना,
गंगा साथ लेके चंदा माथ लेके,
चले आना भोले जी चले आना।
जटाधारी बन के त्रिपुरारी बनके,
चले आना भोले जी चले आना।।



तुम भोले रूप में आना,

तुम भोले रूप में आना,
गोरा साथ लेके त्रिशूल हाथ लेके,
चले आना भोले जी चले आना।
जटाधारी बन के त्रिपुरारी बनके,
चले आना भोले जी चले आना।।



जटाधारी बनके त्रिपुरारी बनके,

चले आना भोले जी चले आना,
जटाधारी बन के त्रिपुरारी बनके,
चले आना भोले जी चले आना।।

Singer : Tripti Shakya


पिछला भजनहे भोले नाथ दया करके अब मुझे बसा लो चरणन में
अगला भजनतेरे साथ रहना मुश्किल हो गया है मेरा भोले भजन लिरिक्स

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें