जावरा नगरी श्याम धणी को मंदिर बण्यो जोर को लिरिक्स

जावरा नगरी श्याम धणी को,
मंदिर बण्यो जोर को,
श्याम धणी तो बांधे राखे,
भक्ता की डोर को,
जयकारो गूंजे रे,
खाटू वाला श्याम को।।



एक ओर है जगनाथ तो,

दूजा बाबा श्याम जी,
दूर दूर से प्रेमी आवे,
होवे सगला काम जी,
जयकारो गूंजे रे,
खाटू वाला श्याम को।।



श्याम धणी का दर्शन करवा,

पैदल प्रेमी आवे जी,
झूमे नाचे भगत घनेरा,
डीजे जोर बजावे जी,
जयकारो गूंजे रे,
खाटू वाला श्याम को।।



केसरिया बागा में बाबो,

मंद मंद मुस्कावे जी,
भगता के ऊपर यो बाबा,
मोरछड़ी घुमावे जी,
जयकारो गूंजे रे,
खाटू वाला श्याम को।।



श्याम धणी री महिमा यो,

‘तुषार ठाकुर’ गावे जी,
गोपाल प्रेमी सुर मिलावे,
सबरे मनडे भावे जी,
जयकारो गूंजे रे,
खाटू वाला श्याम को।।



जावरा नगरी श्याम धणी को,

मंदिर बण्यो जोर को,
श्याम धणी तो बांधे राखे,
भक्ता की डोर को,
जयकारो गूंजे रे,
खाटू वाला श्याम को।।

Singer – Tushar Thakur
8103238287


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें