जय जय जय हनुमान गोसाई भजन लिरिक्स

जय जय जय हनुमान गोसाई भजन लिरिक्स

जय जय जय हनुमान गोसाई,
कृपा करो महाराज।

दोहा – बेगी हरो हनुमान महाप्रभु,
जो कछु संकट होय हमारो,
कौन सो संकट मोर गरीब को,
जो तुम से नहीं जात है टारो।।



जय जय जय हनुमान गोसाई,

कृपा करो महाराज,
जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करो महाराज।।



तन मे तुम्हरे शक्ति विराजे,

मन भक्ति से भीना,
जो जन तुम्हरी शरण मे आये,
जो जन तुम्हरी शरण मे आये,
दुःख दरद हर लीना, हनुमत,
दुःख दरद हर लीना,
महावीर प्रभु हम दुखियन के,
तुम हो गरीब नवाज, हनुमत,
तुम हो गरीब नवाज, हनुमत,
जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करो महाराज।।



राम लखन वैदेही तुम पर,

सदा रहे हर्षाये,
हृदय चीर के राम सिया का,
हृदय चीर के राम सिया का,
दर्शन दिया कराए, हनुमत,
दर्शन दिया कराए, हनुमत,
दोऊ कर जोड़ अरज हनुमंता,
कहियो प्रबु से आज, हनुमत,
कहियो प्रबु से आज, हनुमत,
जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करो महाराज।।



राम भजन के तुम हो रसिया,

जाने दुनिया सारी,
वंदन करते तेरा हनुमत,
वंदन करते तेरा हनुमत,
इस जग के नर नारी,
इस जग के नर नारी,
राम नाम जप के हनुमंता,
बने भक्त सरताज हुनमत,
बने भक्त सरताज हुनमत,
जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करो महाराज।।



जय जय जय हनुमान गोसाई,
कृपा करो महाराज,
जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करो महाराज।।

यह भजन ‘रमेश जी पाण्डेय’ द्वारा,
भजन डायरी ऍप से जोड़ा गया है।
आप भी अपना भजन जोड़ सकते है।


2 टिप्पणी

  1. Ram Bhajan ke tum ho rasiya
    Jane duniya sari
    Vandan karte tera hanumat
    Is Jag ke nar-nari
    Is Jag ke nar-nari
    Ram Nam jap ke hanumanta
    bane bhakt Sartaj Hunmat
    jai jai hanuman gosai
    Kripa karo mahraj

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें