जय जय गौरी ललन जय जय हो गजवदन लिरिक्स

जय जय गौरी ललन,
जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन,
गौरी नंदन तुम्हे घर में लाएंगे हम,
देवा मंदिर तुम्हारा सजाएंगे हम।bd।

तर्ज – अच्युतम केशवम।



बेला चंपा चमेली गुलाब लिया,

चाँद तारों से आसन है तेरा सजा,
जय जय गोरी ललन,
जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन।bd।



तेरी राहों में पलके बिछाएंगे हम,

दीप श्रद्धा का मन से जलाएंगे हम,
जय जय गोरी ललन,
जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन।bd।



छोटे मूसे पे चढ़कर के आना प्रभु,

अपने भक्तो को दर्शन दिखाना प्रभु,
जय जय गोरी ललन,
जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन।bd।



मैया गौरा के साथ आना प्रभु,

संग शिव भोलेनाथ को लाना प्रभु,
जय जय गोरी ललन,
जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन।bd।



रिद्धि सिद्धि भी संग में आएगी जो,

जन्मो जन्मो के भाग्य जगाएंगी वो,
जय जय गोरी ललन,
जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन।bd।



शिव गणो संग आरती गाऊंगा मैं,

तुम्हे मोदक का भोग लगाऊंगा मैं,
Bhajan Diary Lyrics,
जय जय गोरी ललन,
जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन।bd।



भक्त आकर के दर पे जयकार करे,

तेरे दर्शन पे भक्त बलिहार रहे,
जय जय गोरी ललन,
जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन।bd।



तेरे गुण बप्पा ह्रदय से गाऊंगा मैं,

तुम्हे चन्दन का तिलक लगाऊंगा मैं,
जय जय गोरी ललन,
जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन।bd।



जय जय गौरी ललन,

जय जय हो गजवदन,
एकदन्ता तेरा गा रहे है भजन,
गौरी नंदन तुम्हे घर में लाएंगे हम,
देवा मंदिर तुम्हारा सजाएंगे हम।bd।

Singer – Rakesh Kala


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

गणपति के चरणों में ध्यान लगा ले रे भजन लिरिक्स

गणपति के चरणों में ध्यान लगा ले रे भजन लिरिक्स

गणपति के चरणों में, ध्यान लगा ले रे, रिद्धि और सिद्धि, तुझे सब मिल जाए रे, गणपति के चरणो में, ध्यान लगा ले रे।। प्रथम पूज्य तुम हो देवा, करूँ…

गौरी नंदन श्री गणेश विघ्न सब आन हरो देवा लिरिक्स

गौरी नंदन श्री गणेश विघ्न सब आन हरो देवा लिरिक्स

गौरी नंदन श्री गणेश, विघ्न सब आन हरो देवा, आन हरो देवा, विध्न सब आन हरो देवा, गोरी नंदन श्री गणेश, विध्न सब आन हरो देवा।। वंदन तेरा कर रहे…

गणनायक राजा राखो सभा में म्हारो मान भजन लिरिक्स

गणनायक राजा राखो सभा में म्हारो मान भजन लिरिक्स

गणनायक राजा, दोहा – प्रथम सिमरू शारदा, गुरुचरण सिर नाय, गजानंद आनंद सहित, हृदय बिराजो आए। गणनायक राजा, राखो सभा में म्हारो मान।। तर्ज – गर जोर मेरो चाले। प्रथम…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे