तेरी वंदना करूँ मैं प्रथमे गणेश देवा भजन लिरिक्स

तेरी वंदना करूँ मैं प्रथमे गणेश देवा भजन लिरिक्स

तेरी वंदना करूँ मैं,
प्रथमे गणेश देवा।

श्लोक
– प्रथमे गुरूजी को वंदना,

द्वितीये आदि गणेश,
तृतीये सुमिरा शारदा,
मेरे कंठ करो प्रवेश।



तेरी वंदना करूँ मै,

प्रथमे गणेश देवा,
माता है गौरा तेरी,
पिता है महादेवा,
तेरी वंदना करूँ में,
प्रथमे गणेश देवा।।



देवो के देवता हो,

कहते है देव सारे,
देवो के देवता हो,
कहते है देव सारे,
संसार को पता है,
हर शख्श जानता है,
पूजा से पहले तेरी,
कारज ना होगा पूरा,
तेरी वंदना करूँ में,
प्रथमे गणेश देवा।।



मूषक की है सवारी,

लीला है तेरी न्यारी,
तेरे नाम से शुरू है,
ये ज़िन्दगी हमारी,
तुमसा कोई दयालु,
मेने नहीं है देखा,
तेरी वंदना करूँ मैं,
प्रथमे गणेश देवा।।



तुम हो सिद्धिविनायक,

और ज्ञान के हो सागर,
किरपा करूँ गणेशा,
आये है तेरे दर पर,
फल फूल पान लड्डू,
कोई चढ़ाए मेवा,
तेरी वंदना करूँ मैं,
प्रथमे गणेश देवा।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें