जादू टोना कर गई रे कान्हा की मुरलिया भजन लिरिक्स

जादू टोना कर गई रे कान्हा की मुरलिया भजन लिरिक्स

जादू टोना कर गई रे,
कान्हा की मुरलिया,
कान्हा की मुरलिया,
या कान्हा की मुरलिया,
जादु टोना कर गई रे,
कान्हा की मुरलिया।।

तर्ज – भक्तो को दर्शन दे गई रे।



जब जब यमुना पे बाजी मुरलिया,

जब जब यमुना पे बाजी मुरलिया,
मस्ती में छम छम नाची मुरलिया,
लहरों में मस्ती भर गई रे,
कान्हा की मुरलिया,
जादु टोना कर गई रे,
कान्हा की मुरलिया।।



जब जब मधुबन में बाजी मुरलिया,

जब जब मधुबन में बाजी मुरलिया,
फूलों पे ऐसे मँडरावे तितलियाँ,
भंवरो को पागल कर गई रे,
कान्हा की मुरलिया,
जादु टोना कर गई रे,
कान्हा की मुरलिया।।



जब जब पनघट पे बाजी मुरलिया,

जब जब पनघट पे बाजी मुरलिया,
हो गई दीवानी सारी गुजरिया,
सबको बेसुध कर गई रे,
कान्हा की मुरलिया,
जादु टोना कर गई रे,
कान्हा की मुरलिया।।



जब जब गोकुल में बाजी मुरलिया,

जब जब गोकुल में बाजी मुरलिया,
धुन सुनकर हुई ‘चंदन’ बावरिया,
‘अनाड़ी’ के दिल में उतर गई रे,
कान्हा की मुरलिया,
जादु टोना कर गई रे,
कान्हा की मुरलिया।।



जादू टोना कर गई रे,

कान्हा की मुरलिया,
कान्हा की मुरलिया,
या कान्हा की मुरलिया,
जादु टोना कर गई रे,
कान्हा की मुरलिया।।

Singer – Chandan Sharma


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें