जाना जब भी श्याम दरबार शुकर हर बार करना भजन लिरिक्स

जाना जब भी श्याम दरबार,
शुकर हर बार करना,
याद करके वो सारे उपकार,
शुकर हर बार करना,
जाना जब भीं श्याम दरबार,
शुकर हर बार करना।।

तर्ज – गली में आज चाँद।



जो तेरे संग सरकार ना होता,

इतना बड़ा परिवार ना होता,
कोई करता क्या तुमको प्यार,
कोई करता क्या तुमको प्यार,
शुकर हर बार करना,
शुकर हर बार करना,
जाना जब भीं श्याम दरबार,
शुकर हर बार करना।।



इसने थामा तुझको पल में,

रंग भरा तेरे बेरंग कल में,
तेरे जीवन में आई बहार,
तेरे जीवन में आई बहार,
शुकर हर बार करना,
शुकर हर बार करना,
जाना जब भीं श्याम दरबार,
शुकर हर बार करना।।



जितना दिया है श्याम ने तुझको,

बदले में क्या दोगे उसको,
कुछ कर ना सको तो मेरे यार,
कुछ कर ना सको तो मेरे यार,
शुकर हर बार करना,
शुकर हर बार करना,
जाना जब भीं श्याम दरबार,
शुकर हर बार करना।।



‘शिवम’ जब तेरा मन घबराए,

राह कोई जब समझ ना आए,
उस वक्त रहे ये तैयार,
उस वक्त रहे ये तैयार,
Bhajan Diary Lyrics,
शुकर हर बार करना,
शुकर हर बार करना,
जाना जब भीं श्याम दरबार,
शुकर हर बार करना।।



जाना जब भी श्याम दरबार,

शुकर हर बार करना,
याद करके वो सारे उपकार,
शुकर हर बार करना,
जाना जब भीं श्याम दरबार,
शुकर हर बार करना।।

Singer – Krishna Priya


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें