जबसे तेरी मेरी मुलाकात हो गयी उमा लहरी भजन लिरिक्स

जबसे तेरी मेरी मुलाकात हो गयी उमा लहरी भजन लिरिक्स

जबसे तेरी मेरी मुलाकात हो गयी,
सारे कहते है की करामात हो गयी ,
दुनिया दीवानी मेरे साथ हो गयी,
सारे कहते है करामात हो गयी।।

तर्ज – एक परदेसी मेरा दिल ले गया



सांवरे सलौने श्याम, झूम झूम जाऊं मै,

तूने क्या दिया है कैसे तुझको बताऊ मै,
खुशियों की जैसे बरसात हो गयी है,
सारे कहते है की करामात हो गयी।।



एक वो जमाना था, ठोर न ठिकाना था,

देखते ही मुझसे आँखे, फेरता जमाना था,
किस्मत बुलंद रातों रात हो गयी,
सारे कहते है की करामात हो गयी।।



‘लहरी’ दीया जो तूने, कभी न भुलऊँगा,

जिंदगी ये सारी तेरी, सेवा में बिताऊंगा,
आँखों ही आँखों में अपनी बात हो गयी,
सारे कहते है की करामात हो गयी।।



जबसे तेरी मेरी मुलाकात हो गयी,

सारे कहते है की करामात हो गयी ,
दुनिया दीवानी मेरे साथ हो गयी,
सारे कहते है करामात हो गयी।।

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें