जब जब प्रेमियों के संग खाटू आएगा भजन लिरिक्स

जब जब प्रेमियों के,
संग खाटू आएगा,
तुझ पे भी साँवरे का,
रंग चढ़ जाएगा।।

तर्ज – दीनानाथ मेरी बात छानी।



बोझ परिवार वाला,

सांवरे पे छोड़ दे,
मन को तू श्याम,
प्रेमियों के संग जोड़ ले,
श्याम के भजन जो,
उमंग से तू गाएगा,
तुझ पे भी साँवरे का,
रंग चढ़ जाएगा।।



श्याम ने बुलाया यही,

मन में विचार ले,
श्याम भजनो में थोडा,
वक्त गुजार ले,
श्याम की तरंग,
अंग अंग बह जाएगा,
तुझ पे भी साँवरे का,
रंग चढ़ जाएगा।।



जैसे जैसे सांवरे से,

प्रीत बढ़ जाएगी,
नाम की खुमारी थोड़ी,
और चढ़ जाएगी,
नाचेगा तू झूम के,
मलंग बन जाएगा,
तुझ पे भी साँवरे का,
रंग चढ़ जाएगा।।



खाटू वाली गलियों में,

देख ले तू घूम के,
बिगड़ी बना ले श्याम,
चरणों को चूम के,
देखेगा जमाना ‘रोमी’,
दंग रह जाएगा,
तुझ पे भी साँवरे का,
रंग चढ़ जाएगा।।



जब जब प्रेमियों के,

संग खाटू आएगा,
तुझ पे भी साँवरे का,
रंग चढ़ जाएगा।।

Singer – Sanjay Pareek Ji
Upload By – Pandit Reeta Gautam


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें